पांच हजार की रिश्वत लेते रेजंर गिरफ्तार, 30 अप्रैल को हो रहा था सेवा-निवृत्ति


| March 14, 2019 |  

आबूरोड | पांच हजार की रिश्वत लेते रेजंर रेंज हाथो गिरफ्तार

सिरोही जिला एसीबी ने बडी कारवाई करते हुए वनविभाग के रेंजर को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकडा, रेंजर गजेन्द्र सिंह ने यह रिश्वत आरा मशीन लगाने की एवज में मांगे से जिसे परिवादी की शिकायत के बाद एसीबी अधिकारी जितेन्द्रसिंह मेडतिया के नेतृत्व में यह कारवाई कर रंगे हाथो धरा गया ।

एसीबी अधिकारी जितेन्द्रसिंह मेडतिया ने बताया कि आबूरोड वनविभाग में कार्यरत गजेन्द्रसिंह ने आबूरोड के आकराभट्टा में रहने वाले मदनलाल सैनी द्वारा आकराभट्टा मे आरा मशीन लगानी थी जिसको लेकर वन विभाग द्वारा वेरीफिकेशन किया जाना था जिसको लेकर पिछले लम्बे समय से मदनलाल रेंजन गजेन्द्रसिंह के चक्कर लगा रहा था पर गजेन्द्रसिंह द्वारा 10 हजार की रिश्वत मांगी गई और 5 हजार में सौदा तय पर मदनलाल ने पूरे मामले की जानकारी एसीबी को दी और एसीबी मे वन विभाग के रेंजर द्वारा रिश्वत मांगें जाने की शिकायत की गई।

मदनलाल द्वारा रेंजर की शिकायत मिलने पर उसे सत्यापित किया गया और आज मदनलाल को 5 हजार रूपए रेंजर गजेन्द्र सिहं को देने मदनलाल पैसे लेकर वन विभाग कार्यालय आबूरोड पहुचे जहां रेंजर नही मिले रेंजर ने मदनलाल को आबूरोड के अग्रवाल धर्मशाला के पास बुलाया |
रेंजर के बुलाए जाने पर मदनलाल वहां पहुचा और पैसे दिए जैसे ही मदनलाल ने पैसे दिए पीछा कर रही एसीबी की टीम ने मौके पर ही रेंजर गजेन्द्रसिंह को धर दबोचा और वन विभाग कार्यालय लेकर आए और नोटों का सत्यापन किया गया जिसमें एसीबी द्वारा दिए गए नोट ही पाए गए।

एसीबी द्वारा की कई कारवाई के बाद मौके पर हडकम्प मच गया, एसीबी की टीम रिश्वतखोर रेंजर को लेकर आबूरोड सदर थाना पुलिस पहुची कारवाई की गई फिलहाल एसीबी रिश्वतखोर रेंजर को सिरोही लेकर रवाना हुई जहां पूछताछ की जा रही है वही जानकारी में आया कि रेंजर गजेन्द्रसिंह एक माह बाद रिटायर होने वाले थे।

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard