नवरात्रे आज 21 सितम्बर से, जाने घट स्थापन का शुभ मुहुर्त व पूजन एवं स्थापना के विशेष नियम


| September 21, 2017 |  

शारदीय नवरात्रा आश्विन शुक्ला प्रतिपदा गुरुवार 21 सितम्बर से घट स्थापन के साथ शारदीय नवरात्रा प्रारम्भ हो जायेगें । इसके साथ ही गरबा, डांडिया व रास की धमचक भी शुरु हो जायेगी, जो पूरे नवरात्र तक चलेगा ।
घट स्थापन का शुभ मुहुर्त-

ज्योतिष एवं वास्तुविद आचार्य प्रदीप दवे के अनुसार घट स्थापन का शुभ मुहुर्त मध्यान्ह 12.07 से 12.55 तक अभिजित मुहुर्त सर्वश्रेष्ठ रहेगा । इसके अलावा प्रातः 6.29 से 8.00, दिन में 10.59 से 12.55 एवं सायं 6.32 से 08.07 भी श्रेष्ठ रहेगा ।
माताजी के पूजन एवं स्थापना के विशेष नियम-

 

1- मां का पूजन पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ मुँह करके करना चाहिए।
2- दूध या दूध से बनी मिठाई का प्रयोग नहीं करना चाहिए ।
3- मां को चुनडी नहीं ओढानी चाहिए । चुनडी ओढाने से बहिन का रिश्ता बन जाता है।
4-मासिक धर्म में आने पर स्त्रियां सात दिन बाद पूजन कर सकती है।
5-मूर्ति रहस्य के अनुसार माताजी को स्नान व श्रृंगार पूजा का अधिकार सिर्फ महिलाओं को प्राप्त है। अतः माताजी को स्नान व श्रृंगार सिर्फ महिलाओं को ही करना चाहिए ।
6-मां की तस्वीर अथवा प्रतिमा को कोने मे स्थापित नहीं करना चाहिए ।
7-दीप से दीप नहीं जलाना चाहिए, इससे दरिद्रता नहीं आती है।
8-माताजी की स्थापना के पास क्षेत्रपालजी (खेतलाजी) की स्थापना नहीं करनी चाहिए।

 

आप सभी को नवरात्रो की हार्दिक शुभकामनाए- आबूटाइम्स, परिवार

आचार्य प्रदीप दवे
ज्योतिष एवं वास्तुविद
सिरोही, 94142-91287

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard