मां- बेटे की संघिद हालात मे मिले शव: आबूरोड़


| September 6, 2017 |  

हत्या व आत्म हत्या होने का संदेह
आबूरोड। सदर थाना क्षेत्र के सूर्यदर्शन अपार्टमेन्ट की दूसरी मंजिल पर रहने वाले एक परिवार के दो सदस्यों की संदेहप्रद अवस्था में मौत की सूचना पुलिस को मिलने पर आज सदर पुलिस ने मां-बेटे के शवों को पालिका कर्मियों की मदद से शहर की मोर्चरी में परिजनों के आने तक सुरक्षित रखवाया।
सदर थानाधिकारी सुमेरसिंह इंद्रा के अनुसार मूलत: हरियाणा निवासी ललिता गोयल पत्नि रामनिवास उम्र 45 वर्ष अपने बेटे सुमित गोयल उम्र 29 वर्ष के साथ निवास करती थी। ब्रहमकुमारी संस्थान में आस्था होने के कारण दोनो मां-बेटे आश्रम में आना जाना करते थे।

पिछले तीन-चार दिन से दोनो की कोई खैर खबर नही मिलने पर सोमवार की शाम को कुछ परिचितों ने पुलिस के साथ ललिता के निवास स्थान पर पहुंचकर कमरे का दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया परंतु अंदर से कोई जवाब नही आने पर दरवाजे को तोडा गया तो अनिता का शव दरवाजे का पास हॉल में पडा हुआ था। कमरे से तेज दुर्गंध आने के कारण कोई भी कमरे के अंदर जाने की हिम्मत नही जुटा पाया।

आज मंगलवार की सवेरे पालिका कर्मियों की मदद से ललिता के शव को नीचे लाने के लिए जब पालिका कर्मी कमरे में पहुंचे तो एक अन्य कमरे में बेटे सुमित का शव पंखे से लटकता हुआ दिखाई दिया। सुमित का शव भी काफी दिन पुराना होने के कारण शव से काफी दुर्गंध आने के कारण बडी मशक्कत के बाद दोनो के शवों को मौके से नीचे लाया गया।

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस उपाधीक्षक विजय सिंह भी मौके पर पहुंचे एवं मौका निरीक्षण करने के बाद प्रथम दृष्टया यह पाया कि सम्भवतया: मां-बेटे में किसी बात को लेकर विवाद होने पर बेटे ने पहले मां की हत्या की उसके बाद खुद ने भी फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली। घटना की सूचना मृतका के परिजनों को देने पर पहले तो मृतका के परिजनों ने शव लेने से इंकार कर दिया उसके पश्चात पुलिस द्वारा समझाईश करने पर मृतका के पीहर पक्ष ने इसकी स्वीकृति दी। जिस पर पुलिस ने दोनो के शवो को परिजनों के आने तक मोर्चरी में सुरक्षित रखवाया।

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard