43 लाख की शराब जब्त – राजस्थान पुलिस को नकारा सबित किया गुजरात पुलिस ने


| September 5, 2017 |  

पिछले 15 दिनो मे एक करोड से ज्यादा की अंगेजी शराब पकडी

आबूरोड। रास्थान की सीमा से होकर गुजर रहे शराब तस्करो को राजस्थान चोकी से मात्र एक किलोमिटर की दूरी पर ही गुजरात पुलिस पकड रही है पिछले 15 दिनो मे राजस्थान पुलिस को नकारा साबित करते हुये गजरात पुलिस मे एक करोड रूपये से ज्यादा की अंग्रेजी शराब व उनको तस्करी कर रहे वाहानो को पकडा। मात्र एक किलो मिटर की देरी पर पकडी जा रही शराब राजस्थान पुलिस पर कई सवालिया निशान पेदा कर रही है वही राजसथान के पुजिस अधिकारी इसे नफरी की कमी का हवाला देकर पल्ला झाड रहे है।
गत रात्री को गुजरात पुलिस ने बडी कार्यवाही करते हुये हरियाणा से गुजरात जा रहे ट्रक की तलाशी के दौरान उसमे रखी 43 लाख रूपये से ज्यादा की शराब को पकडा।

गुजरात के बनास कांठा अमीरगढ़ थानाप्रभारी एम.बी.बारड ने जानकारी देते हुये बताया कि रविवार की देर रात्री मुखबीर की सुचना पर उनको ज्ञात हुया की एक हरियाणा प्रदेश के नम्बर वाला ट्रक अंग्रेजी शराब लेकर आ रहा है उन्होने मय जाबते अपने पुलिस जवान जयेश कुमार, इंद्रदान, भुरा भाई व भरत कुमार के साथ चैकिंग के दौरान ट्रको की जांच पर राजस्थान की ओर से आ रहे ट्रक एचआर-69,बी-9171 को रूकवाया ओर चालक व खलासी से पूछताछ करने पर वो घबरा गये जिसके बाद उन्होने ट्रक की तलाशी ली ओर उसमे भरी अंग्रेजी शराब 16,968 बोतले जब्त की जिनकी किमत लगभग 43 लाख रूपये से ज्यादा की बताई गई। पुकलिस द्वारा ट्रक चालक विक्रमजीत पुत्र भगवानदास शर्मा निवासी उत्तरप्रदेश, व खलासी अमरनाथ शर्मा को गिरफतार किया। आरोपीयो को शराब तस्करी के आरोप मे गिरफतार कर कार्यवाही की।

ऐसा किया है एक किलोमिटर पर

राजस्थान ओर गुजरात कि सीमा के मात्रद्ध एककिलोमिटर पर ऐसा कया है जो कि राजस्थान की पुलिस को नजर नही आता है ओर गुजरात पुलिस आराम से शराब तस्करो को पकड रही है। यह सवाल राजस्थान पुलिस पर कई तरह के सवालिया निशान पेदा कर रही है। अगर हम मौके पर जाकर देखे तो मावल स्थित रासथान बोर्डर पर मावल चौकी स्थापित है जहां पर राजस्थान पुलिस द्वारा बेरिकेट लगाकर हर वाहन की जांच की जा रही है, लेकिन फिर भी केसे उनको शराब तसकरी की गाडीया नजर नही आती है जबकि मात्र कुछ ही दूरी पर गुजरात पुलिस उनको आसानी से पकड रही है। इस बारे मे जब राजस्थान पुलिस के आला अधिकारीयो से बात कि तो उन्होने इसे नफरी की कमी बताई वही गुजरात पुलिस के भी इस चौकी पर चार जवान ही तैनात है तो नफरी की कमी को केसे मसन सकते है।

गुजरात पुलिस की मुखबरी भारी पड रही है राजस्थान पुलिस को
गुजरात पुलिस द्वारा मुखबीरो की सुचना पर पिछले 15 दिनो मे एक करोड से ज्यादा की शराब की तस्करी कर रहे वाहानो को जब्त किया है, जबकि राजस्थान पुलिस को अपने मुखबीरो से सुचना कियो नही मिल रही या मिल रही है लेकिन वो इस वाहनो को पकडा ही नही चाहते कई ऐसे सवाल है जो राजस्थान पुलिस को सवालो के घेरे मे खडा कर रहे है।

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard