अन्र्तराष्ट्रीय साक्षरता दिवस मनाया: आबूरोड


| September 8, 2017 |  

साक्षर करें शिक्षक का काम- जिला प्रमुख
आबूरोड। अन्तर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर राजकिय उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में जिला स्तरीय साक्षरता दिवस समारोह का आयोजन किया गया जिसमे मुख्य अतिथि जिला प्रमुख पायल परसराम पुरिया ने उपस्थित महिलाओं, नव साक्षरो को कहा कि शिक्षा एक एसी जरूरत है जिसके माध्यम से आप खुद का तो भला कर ही सकती है परन्तु दूसरो को भी आप इसका फायदा दिला सकती है, उन्होने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार व कैन्द्र की सरकार ने कई लाभकारी योजनाएं शुरू कह है जो कि बिना शिक्षा के पूरी नही हो सकती, अगर आप शिक्षा लेगी व दूसरो को शिक्षा दिलाने मे सहयोग करेंगी तो आप अपने व दूसरो का भविष्य बदल सकती है।

 

 

कार्यक्रम अध्यक्ष क्षेत्रीय विद्यायक समाराम ग्ररासीयो ने अपने आदिवासी भाषा मे संबोधित करेत हुये कहा की शिक्षा बहुत ही जरूरी है लकिन हम सभी नशे की लत मे पड गये है नगर सुधार न्यास,आबू के अध्यक्ष सुरेश कोठारी ने कहा की प्रदेश मे सिरोही जिला अभी भी शिक्षा के लिहाज से बहुत ही पिछे है, लेकिन हा पिछले कुछ सालो मे इस जिले मे शिक्षा का स्तर मे सुधार हुआ है आत देवासी, आदिवासी व अन्य पिछडी जातियो की बालिकाओ को शिक्षा देने का ग्राफ ऊपर ऊठा है, मैने देखा हे कि देवाीसी व गरासीया समाज मे तो लडको से ज्यादा लडकीया शिक्षा मे आगे है, अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन दूर नही होगा जब प्रदेश नही राष्ट्रीय स्तर पर सिरोही का नाम सबसे ऊपर लिया जायेगा।

उपखण्ड अधिकारी सुरेश कमुार ओला ने अन्र्तराष्ट्रीय दिवस पर सभी नव साक्षर महिलाओ को बधाई दि व आखर प्रेरको व नव साक्षरो को विभिन्न विभागो द्वारा संचालित योजनाओ कि जानकारी प्राप्त कर आम जन तक पहुचाने के बारे में आहवान किया साथ ही 6 से 14 वर्ष तक कि अनामांकित बालिकाओ को विद्यालयो से जोडने हेतु भी आग्रह किया ताकि साक्षरता कार्य के साथ-साथ शिक्षा के क्षैत्र मे वातावरण निर्मित हो सके।

वीरेन्द्र त्रिवेदी ब्लॉक समन्वयक ने साक्षर भारत के मुख्य आयमो कि जानकारी देते हुए सतत् शिक्षा कि प्रवृतियो मे लीन होने कि बात कही ताकि सम्पूर्ण वनवासी क्षैत्र साक्षर हो सके साथ ही शिक्षित नारी व विकसित समाज के बारे में भी जानकारी दी। जिला साक्षरता अधिकारी जबर सिंह राव ने सभी का धन्यवाद अर्पित किया। किया। इस अवसर पर विकास अधिकारी कुन्दनमल दवे, बीईईओ दलपतराज पुरोहित, प्रधानाचार्य थानाराम पुरोहित, सहायक परियोजन अधिकारी आशा देवडा, सरपंच देलदर गीता देवी, जायदर ममता देवी, सियावा मगदू देवी, जिला परिषद सछसय भारमाराम गरासीया, पंचायत समिती सदस्य, माया बेन, ताराचंद भील, भाजपा ग्रामीण मण्डल अध्यख्ज्ञ दशरथसिंह, रामलाल रणोरा समेत सभी सरपंच व पंयाचत समिती सदस्य, ग्राम सेवक, ब्लॉक स्तरीय अधिसकारी, प्रेरक व ग्रामवासी मोजूद रहे।

 

नशे को बताया जीवन बर्बादी का रास्ता

कार्यक्रम के दोरान क्षेत्रीय विधायक समाराम गरासीयो ने अपने संबोधन मे नशे को जीवन बर्बादी का मुख्य रास्ता बताया उन्होने कई दोहे व व्यंगो के माध्यम से नशे से दूर रहने के लिये आग्रह किया। गरासीयो ने कहा की वनवासी क्षेत्रो मे देखा गया है की पुरूषो के साथ महिलायं भी नशे की लतो मे पड गई है, तंबाकू, गटका सहित अन्य प्रकार के ऐसे नशे है जो दिखने मे बहुत छोटे होते है लेकिन हकिकत मे वो हमारी जिन्दगी को धिरे धिरे खोखला बना रहे है, वही पुरूष दिन भर मजदूरी करके अपनी मेहनत को पेसा लेकर घर आने की बजाये सिधा शराब की दूकान पर जाता है, अगर शिक्षा होगी तो समझ आयेगा की हमको हमारी मेहनत का रूपया कहा खर्चा करना है, गरासीयो ने कहा की सभी को नशे से दूर रहकर शिक्षा के प्रति आगे आना होगा ओरपरिवार के साथ समाज व देश को आगे लाना होगा।

 

सांस्कृतिक कार्यक्रम के माध्यम से दिया साक्षरता का संदेश

कार्यक्रम के दोरान स्कूल की बालिकाओ व वनवासी क्षेत्र की बालिकाओ द्वारा सांस्कृतिक कार्यकमो की प्रस्तुतति दी गई। कार्यक्रम में दूसरा दशक परियोजना की बालिकाओ द्वारा शिक्षा की अलख जगानी हे, देश को विकसीत बनाना है…। युवा शक्ति की है पहचान भारत देश का होगा निर्माण..। महिलाओ को जोडे शिक्षा से वो एक नही है दो है उनको जोडे धारा से…। जेसे गानो पर लधु नाटिका व नृत्य के माध्यम से साक्षरता का संदेश दिया।

किया सम्मान

विश्व अन्र्तराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर उत्र्कष्ट कार्य करने वाले प्रेरको एवं स्वयं सेवी शिक्षको को अतिथीयो द्वारा सम्मानित किया गया। जिसमे प्ररेक अरूणा कुमारी मावल, सुनीता कुमारी सांतपुर, मुकेश कुमार सिरोही,अंकिता खण्डेलवाल कृष्णगंज, सुरेश कुमार गरासीया ठण्डी बेरी, अलका कुमारी बागसिंह, सुमित्रा मीणा भावरी, टीना कमुार मकावल, स्वयं सेवी शिक्षक हिमा कुमारी डेरना, रणजीता कुंवर मूगंथला, नथली देवी भूला, आशा कुमारी सेलवाडा, निरमा कुमारी गोयली, लीलाराम कालन्द्री, तीराराम दातराई आदि को सम्मानित किया गया।
दिलवाई शपथ

कार्यक्रम के अंत मे उपस्थित नवसाक्षर महिलाओ एवं ग्रामवासीयो को साक्षरता एवं स्वच्छता की शपथ दिलवाकर सकंल्प दिलवाया साथ ही इस मौके पर जिला प्रमुख द्वारा समतुल्य परीक्षा की कक्षा उद्घाटन किया।
फोटो -1,2,3 एबीआर

 

ब्लेक बोर्ड पर लिख किया साक्षर, साक्षर कक्षाओ का किया उद्घाटन

आबूरोड। अन्र्तराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर जिला प्रमुख पायल परसराम पुरिया द्वारा देलदर मे समतुल्य परीक्षा की कक्षा उद्घाटन किया। उसके बाद पुरिया द्वारा मोजूद बुर्जुग व अनपढ़ महिलाओ को स्लेट व चौक हाथ मे देकर खुदने ब्लेक बोर्ड पर अक्षर लिखकर महिलाओ को लिखने को कहा वही जिला प्रमुख द्वारा उन महिलाओ के बीच मे बैठकर उनको अपने हाथो से स्लेट पर अपना नाम लिखना सिखाया। उन्होने उन महिलाओ के साथ आये उनके स्कूल जा रहे बच्चो से आग्रह किया की वो स्कूल से घर जाने के बाद अपने माता -पिता सहित घर के बुर्जुगो को शिक्षा दे।

 

रेली निकाल दिया साक्षरता का संदेश

आबूरोड। राजकिय उच्च माध्यमिक विद्यालय देलदर के बालक बालिकाओ द्वारा अन्र्तराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर रैली निकाली गई। रैली को बीईईओ दलपतराज पुरोहित ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया , रेली मे सबसे आगे ढ़ोल नगाडो पर बच्चे अपने हाथो मे साक्षरता का संदेश लिखे नारो वाली तख्तीया लेकर चल रहे थे, रेली गांव के हर मोहल्ले व वाडा्र्र मे होती हुई पुन: स्कूल परिसर पहुची। इस मौके पर ब्लॉक समन्यवक विरेन्द्र त्रिवेदी, प्रधाचार्य थानाराम पुरोहित समेत कार्मिक उपस्थित रहे। इसी क्रम मे सांतपुर, चण्डेला, वासडा, सियावा, सूरपगला इत्यादि गांवो मे भी स्कूलो क्षरा रैली निकाल साक्षरता का संदेश दिया।

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard