आठ गोरखा सैनिक माउंट आबू से 650 कि.मी की साइकिल यात्रा कर जानेंगे शहीदों के परिवारों का हाल


| December 4, 2017 |  

थल सेना का साइकिल दल साहसिक अभियान पर हुआ रवाना।
माउण्ट आबू – स्थानीय गोरखा राइफल का आठ सदस्यीय दल साइकिल पर अपने साहसिक अभियान पर सोमवार को रवाना हुआ। दल को उदयपुर बिग्रेड से मुख्य अथिति के रूप में आए थल सेना के कंमाडऱ ने हरी झंड़ी दिखाकर के रवाना किया। इस दौरान उनके साथ में कमॉन्डिग आफिसर्स प्रमोद गहलोत, उपखण्ड़ अधिकारी सुरेश कुमार ओला, वायु सेना के सैन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कैप्टन अर्णव मगगू की नेतृत्व में साइकिल पर यात्रा करते हुए गोरखा राइफल का यह दल रणकपूर ,हल्दीघाटी, कुम्बलगढ़, चित्तौडग़ढ़, बस्सी, व नीमच के ऐतिहासिक स्थलों पर जाएगा। जहां पर देश के वीर सपूतों ने आक्रमणकारियों से रणक्षेत्र में भीष्ण युद्ध लड़तें हुए अपने प्राणों का बलिदान किया था। इन स्थानों के साथ-साथ में यह दल मार्ग में आने वाले छोटे कस्बों व गांवों में रहने सैन्य परिवारों,उनके बच्चों व पूर्व सैनिकों से मिलेगा। सैन्य परिवारों से मिलकर के यह दल उनकी आम जन समस्याओं को जानने का प्रयास करेगा।

सैन्य परिवारों के मुखिया या शहीद सैनिक की विधवा को मिलने वाली पेन्शन,बच्चों की शिक्षा,समेत अन्य पहलुओं से परिचित होकर के आठ दिनों में यह दल 650 किलो मीटर की यात्रा को पूरी करके माउण्ट आबू लौटेगा। इस साहसिक अभियान में साइकिल पर इन सभी स्थानों पर जाने के अलावा 650 किलोमीटर की दूरी की ट्रेकिग के द्वारा तय करेगा। जिनमें दुर्गम पहाड़ी स्थल भी शामिल होगे।

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard