एशियन हेड एंड नैक कैंसर फाउंडेशन एवं दर्शन डेंटल कॉलेज उदयपुर के तत्वाधान में जागरूकता कार्यशाला एवं नि शुल्क स्क्रीनिंग शिविर


| February 4, 2019 |  

एशियन हेड एंड नैक कैंसर फाउंडेशन एवं दर्शन डेंटल कॉलेज उदयपुर के तत्वाधान में आज 4 फरवरी 2019 जो कि नो कैंसर दिवस के रूप में पूरे विश्व में मनाया जाता है, हेड एन्ड नैक एवं मुख के कैंसर होने के विशेष कारण एवं बचाव तथा कैंसर के प्रारंभिक लक्षणो के बारे में एक विशेष कार्यशाला का आयोजन ओरल कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टर शक्ति सिंह देवड़ा द्वारा माधव यूनिवर्सिटी कैंपस आबू रोड पर प्सुबह 10 बजे से किया गया।

डॉ शक्ति सिंह ने पी.पी.टी के माध्यम से वहा मौजूद नरशिंग के छात्रो, अथिति, एवं अन्य लोगो के बीच मुख के केन्सर के बारे में जानकारी देते हुए बताया की 90% मुँह में केन्सर का कारण है तंबाकू का सेवन, शक्ति सिंह ने बताया की वह उनके फ़ाउंडेशन के तहत लोगों की नी शुल्क जाँच करेंगे एवं अगर किसी व्यक्ति में केन्सर पाया जाता है तो उसे उपरोक्त उपचार के लिए मार्गदर्शन दिया जाएगा एवं ग़रीब व्यक्तियों के उपचार के लिए नी शुल्क उपचार की व्यवस्था भी की जाएगी ।

जीले के पांच तहसील में “इ कैन क्लिनिक” का शुभारम्भ

इस अवसर पर “इ कैन क्लिनिक” को पुरे सिरोही के पांचो तहसील में लांच किया गया, जहा पर ओरल केंसर की फ्री स्क्रीनिंग की जाएगी जहा के चिकित्सक अहमदाबाद के स्पेशल डॉक्टर की टीम से जुड़े रहेंगे, अगर किसी व्यक्ति में केंसर के लक्षण पाए जाते है तो उनकी विडियो कालिंग के जरिये भी जांच हो सकेगी जिसके पश्चात उन्हें आगे के उपचार के लिए भेजा जायेगा |

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सिरोही दरबार श्री रघुवीर सिंह जी देवड़ा ने विदेश में पाए जाने वाले एक फल की जानकारी दी जिसके सेवन से केन्सर को नष्ट किया जा सकता है एवं इस फल को डॉ शक्ति को यह फल उपलब्ध कराने की बात भी की ताकि भारत के लोगों को इसका लाभ प्राप्त हो सके ।

वही जीला प्रमुख पायल परसराम पूरिया ने गाँवो में मेहमान नवाजी के चल रही बीडी, तम्बाकू की प्रथा को रोकने की बात की तो वही विधायक जगसी राम कोहली ने जांच के लिए लोगो को जांच शिविर तक पहुँचाना की मदद का आशवासन दिया |

इस कार्यशाला में अखिल राजस्थान दन्त चिकित्सक संघ, इंडियन डेण्टल एसोसिएशन, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन , लाइयन क्लब एवं एसोसिएशन ऑफ ओरल सर्जन्स एवं विशेष मेडिकल संघठनो का सहयोग रहेगा।

कैंसर स्क्रीनिंग एवं मुख कैंसर को प्राथमिक अवस्था में रोकने के लिए डेंटल सर्जन को विशेष रोल है ताकि गरीब व्यक्ति प्राथमिक स्तर पर कैंसर बचाव के उपाय एवं उसके कारणों के बारें में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सके। आज भारतवर्ष के सामने ओरल एवं हेड नैक कैंसर एक बहुत बड़ी चुनौती है जो दिन प्रतिदिन भयावह होती जा रही है करीब 25 लाख लोग कैंसर से प्रभावित है एवं 30 परसेंट लोग ओरल कैंसर से प्रभावित है जो केवल तंबाकू एवं धूम्रपान के कारण होता है इसका प्राथमिक स्तर पर सिर्फ़ डेंटिस्ट द्वारा बचाव संभव है। इसका प्रमुख कारण सरकार की योजनाये का जनता तक नही लाभान्वित एवं डेंटल सर्जन्स की प्राथमिक चिकित्सा केंद्र पर नियुक्ति नही होना है।

लाइव प्रकाशित विडियो के लिए यहाँ क्लिक करे

कार्यशाला के बाद दर्शन डेंटल कॉलेज, उदयपुर के विशेषज्ञ टीम द्वारा रेवदर में स्क्रीनिंग शिविर का आयोजन किया गया ताकि गरीब व्यक्ति भी नी शुल्क जानकारी एवं उपचार प्राप्त कर सकें , इस शिविर के अंतर्गत कुल 60 ग्राम वासियों को जांच करवाने का सेवा लाभ प्राप्त हुआ |

Share Button

 

Comments box may take a while to load
Stay logged in to your facebook account before commenting


Participate in exclusive AT wizard